Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana 2023-2024: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, PMFBY List, लाभ पात्रता देखें

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana: दोस्तों प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का नाम सुनते ही आप समझ जाते हैं कि इस योजना का सीधा संबंध किसानों की फसल से है। हमारे देश के किसान मौसम के अनुसार अलग-अलग फसलों की खेती करते हैं। और इन सभी किसानों की फसल का नुकसान किसी भी कारण से हो सकता है। फसल खराब होने से किसानों को नुकसान होता है। इन नुकसानों की भरपाई के लिए केंद्र सरकार द्वारा 2016 से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना चलाई जा रही है।

हमारे देश का मुख्य स्तंभ किसान है। और उन किसानों की सुविधा के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार द्वारा अलग-अलग समय पर विभिन्न योजनाएं चलाई जाती हैं। और कई सरकारी योजनाएं लंबे समय से लोकप्रिय हैं। इनमें प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना भी शामिल है।

आज हम बहुत ही सरल शब्दों में जानेंगे कि प्रधानमंत्री फोसल बीमा योजना क्या है, प्रधानमंत्री फोसल बीमा योजना में रजिस्ट्रेशन कैसे करें (pmfby.gov.in registration), प्रधानमंत्री फोसल बीमा योजना में क्या-क्या लाभ मिलते हैं, और इस योजना में रजिस्ट्रेशन कराने की पात्रता क्या है।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana in Hindi
Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana in Hindi

Contents

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना

प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना का उद्घाटन 13 मई 2016 को हमारे देश के वर्तमान प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा किसानों की सुविधा के लिए किया गया था। प्रधान मंत्री फसल बीमा योजना भारत में कृषि बीमा के लिए एक राष्ट्र-एक योजना (One Nation-One Scheme) विषय के अनुरूप सरकार की प्रमुख योजना है।

जैसा कि मैंने आपको बताया प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना 2016 से शुरू हुई। 1 अक्टूबर 2018 को लॉन्च होने के बाद इस योजना में कई संशोधन किए गए। उस संशोधन में लॉन्ग टर्म टेंडरिंग, रिस्क कवर का दायरा और कई अन्य कवरेज जोड़े गए थे।

यह योजना कभी कर्जदार किसानों के लिए अनिवार्य थी, लेकिन 2020 में केंद्र ने इसे बदलकर इसे सभी किसानों के लिए वैकल्पिक बना दिया

एक बार पंजीकृत होने के बाद प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का मौसम के अनुसार नवीनीकरण कराना होता है। यह दो चरणों में किया जाता है।पहला खरीप फसल जिसके लिए किसानों को 2% प्रीमियम जमा करना होता है। और रबी की फसल जिसके लिए किसानों को 1.5% प्रीमियम जमा करना होता है। किसानों को उन फसलों के मामले में 5% प्रीमियम जमा करना होगा जो वार्षिक वाणिज्यिक और बागवानी फसलें हैं।

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना देश के सभी राज्यों में लागू नहीं है। पीआईबी की रिपोर्ट के अनुसार, बिहार, तेलंगाना, झारखंड, पश्चिम बंगाल, गुजरात ये सभी राज्य राज्य सरकार के किसी कारण से इस योजना के अंतर्गत नहीं आते हैं। इस बीच, आंध्र प्रदेश 2022 खरीफ फसल के मौसम से इस योजना में फिर से शामिल हो गया है।

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana का जानकारी

योजना का नामप्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (PMFBY)
द्वारा शुरू की गईप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
शुरू के साल2016
शुरू के तारीख13 मई
मिनिस्ट्रीकृषि और किसान कल्याण मंत्रालय (Ministry Of Agriculture And Farmers Welfare)
लाभार्थीकिसान
उद्देश्यतूफान, बाढ़, सूखा आदि के कारण फसल के नुकसान के मामले में बीमा कवरेज
आवेदन करने की प्रक्रिया अनलाइन/ ऑफलाइन
आधिकारिक वेबसाईटhttps://pmfby.gov.in/

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के उद्देश्य

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का मुख्य उद्देश्य तूफान, चक्रवात, बाढ़, सूखा जैसे किसी भी कारण से फसल खराब होने पर किसानों को मुआवजा प्रदान करना है। यह मुआवजा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के बीमा कवरेज के रूप में दिया जाता है।

इस योजना के माध्यम से सरकार के उद्देश्यों में कई अन्य प्रमुख उद्देश्य शामिल हैं जैसे कि किसानों को नई और आधुनिक खेती के तरीकों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना और किसानों की आय को स्थिर करना, यह सुनिश्चित करना कि सरकार फसल के नुकसान के लिए खड़ी है।

कृषि के विभिन्न मौसमों के लिए मुआवजा अलग है। हमारे देश के लगभग सभी राज्यों के किसान प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ उठा सकते हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ कैसे उठाएं (PMFBY Benefit)

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत सभी किसान निडर और प्रफुल्लित मन से खेती कर रहे हैं। क्योंकि उन्हें पता है कि फसल खराब होने की स्थिति में इस योजना के जरिए सरकार की तरफ से आर्थिक मदद मिलेगी.

अगर आप भी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में नामांकित हैं तो आप कुछ नियमों के अधीन इस योजना से निम्नलिखित लाभ प्राप्त कर सकते हैं

72 घंटे के अंदर जानकारी देनी होगी

जिन प्राकृतिक आपदाओं की हमने चर्चा की है जैसे तूफान, बाढ़, सूखा आदि, यदि आपकी फसल खराब होती है, तो किसानों को अगले 72 घंटों के भीतर कृषि विभाग को सूचित करना होगा।

यदि आप अपनी फसल के नुकसान की रिपोर्ट करना चाहते हैं तो आपको प्रधान मंत्री फोसल बीमा योजना सरकारी पोर्टल से अपनी विशेष बीमा कंपनी का टोल फ्री नंबर, ईमेल पता और कार्यालय का पता मिल जाएगा। जहां संपर्क कर आप अपनी फसल क्षति की जानकारी दे सकते हैं।

किसान को एक लिखित शिकायत जिला प्रशासन एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट में देनी होती है। और अपनी फसल नुकसान का पूरा ब्यौरा लिख कर देना होता है। शिकायत मिलते ही जिला प्रशासन एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट द्वारा कार्यवाही की जाएगी।

आपके फसल नुकसान सूचना बीमा कंपनी को तुरंत जानकारी दी जाती है। जिसके बाद बीमा कंपनी द्वारा सूचना मिलने पर किसान को बीमा कवर दिलाने की कार्यवाही शुरू हो होती है।

PM Fasal Bima Yojana के अंतर्गत मिलने वाली क्लेम राशि

आपकी फसल के नुकसान की सूचना विभाग को देना फसल बीमा क्लेम कहलाता है। इस क्लेम के आधार पर दी जाने वाली वित्तीय सहायता आपकी फसल को हुए नुकसान की सीमा पर निर्भर करती है। आइए यहां हम आपको बताते हैं कि आप अधिकतम कितनी राशि क्लेम के तर पर प्राप्त कर सकते हैं।

अधिकतम क्लेम राशि अलग-अलग मौसम की विभिन्न फसलों के लिए अलग-अलग होती है। जैसे कपास फसल में अधिकतम 36,282 रुपये प्रति एकड़ क्लेम राशि दिया जाता है।

धान के लिए 37,484 रुपए प्रति एकड़, बाजरा के लिए 17,639 रुपए प्रति एकड़, मक्का के लिए 18,742 रुपए प्रति एकड़, और मूंग की फसल के लिए 16,497 रुपए प्रति एकड़ की बीमा क्लेम राशि प्रदान की जाती है। यह क्लेम राशि सर्वे में फसल क्षति की पुष्टि होने के बाद किसानों के बैंक खाते में भेज दी जाती है।

PM Fasal Bima Yojana में शामिल फसलें के लिस्ट

  • खाद्य फसलें (अनाज-धान, गेहूं, बाजरा इत्यादि)
  • वार्षिक वाणिज्यिक (कपास, जूट, गन्ना इत्यादि)
  • दलहन (अरहर, चना, मटर और मसूर सोयाबीन, मूंग, उरद और लोबिया इत्यादि)
  • तिलहन (तिल, सरसों, अरंडी, बिनौला, मूँगफली, सोयाबीन, सूरजमुखी, तोरिया, कुसम, अलसी, नाइजरसीड्स इत्यादि)
  • बागवानी फसलें (केला, अंगूर, आलू, प्याज, कसावा, इलायची, अदरक, हल्दी सेब, आम, संतरा, अमरूद, लीची, पपीता, अनन्नास, चीकू, टमाटर, मटर, फूलगोभी)

Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Online Registration कैसे करे

  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के लिए ऑनलाइन पंजीकरण करने के लिए सबसे पहले आपको इस योजना के आधिकारिक पोर्टल पर जाना होगा।
  • आधिकारिक पोर्टल होमपेज पर फार्मर कॉर्नर लोकेशन पर क्लिक करें।
Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Online Registration
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने दो विकल्प खुल जायेंगे पहला विकल्प उन किसानों के लिए है जो इस योजना में पहले से पंजीकृत हैं, वे लॉगिन कर सकते हैं।
  • जैसा कि आप एक नए रेजिस्ट्रैशन करना चाहते हो आपको दूसरे विकल्प यानी Guest Farmer विकल्प पर क्लिक करना होगा।
Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Online Registration
  • गेस्ट फार्मर (Guest Farmer) ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा।
Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana Registration Form
  • किसान को इस फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी बहुत अच्छे से दर्ज करनी होगी।
  • Farmer Details – इसमें किसान का नाम, रिश्ता, रिश्तेदार का नाम, मोबाइल नंबर, जाति, लिंग ये सभी जानकारी भरनी होगी।
  • Residential Details – यहां राज्य, जिला, उप-जिला, गांव, पता, पिन कोड ये जानकारियां भरनी हैं।
  • Farmer ID – उपरोक्त सभी जानकारी भरने के बाद यहां किसान की कोई भी आईडी और वह आईडी नंबर टाइप करना होगा। उदाहरण के लिए आईडी टाइप आधार कार्ड, उसके दाईं ओर आधार कार्ड नंबर भरना होगा।
  • Account Details – यहां बैंक अकाउंट की जानकारी भरनी होगी। जो IFSC कोड, राज्य, जिला, बैंक का नाम, बैंक शाखा का नाम, बैंक खाता संख्या।
  • सभी जानकारियों को अच्छे से भरने के बाद अंत में कैप्चा कोड टाइप करें और क्रिएट यूजर बटन पर क्लिक करें।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में फसल के आधार पर बीमा राशि एवं प्रीमियम की जांच की प्रक्रिया

PMFBY बीमा प्रीमियम कैलकुलेटर विकल्प का उपयोग करके, विभिन्न राज्यों के किसान बीमा राशि और विभिन्न फसलों और भूमि क्षेत्र के आधार पर जमा की जाने वाली प्रीमियम की राशि जान सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की आधिकारिक वेबसाइट खोलनी होगी।
  • होमपेज के ऊपर से बीमा प्रीमियम कैलकुलेटर (Insurance Premium Calculator) विकल्प पर क्लिक करें।
PMFBY Insurance Calculator
PMFBY Insurance Calculator
  • प्रीमियम कैलकुलेटर ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने एक नया पेज खुल जाएगा। जहां आपको केवल सभी जानकारी का चयन करना है और कैलकुलेट बटन पर क्लिक करना है।
  • इस पेज पर सबसे पहले आपको मौसम का चयन करना है, फिर वर्ष, योजना, राज्य, जिला, फसल और अपनी भूमि का आकार चुनें।
PMFBY Insurance Calculator
PMFBY Insurance Calculator
  • सब कुछ सेलेक्ट करने और कैलकुलेट बटन पर क्लिक करने के बाद आपके सामने बीमा प्रीमियम कैलकुलेटर की सारी जानकारी शो हो जाएगी। यानी आपको कितना पैसा प्रीमियम जमा करना है? सरकार कितना पैसा प्रीमियम जमा कर रही है? कुल कितनी राशि जमा की जा रही है? यह सब।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना को ऑफलाइन कैसे अप्लाई करें

हमारे देश में कई ऐसे किसान हैं जो इस योजना में ऑनलाइन नामांकन नहीं करा पा रहे हैं। वे ऑफलाइन फॉर्म भरकर प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का लाभ उठा सकते हैं।

  • ऑफलाइन आवेदन करने के लिए सबसे पहले अपने नजदीकी बैंक खाते में जाएं।
  • बैंक से प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना आवेदन पत्र प्राप्त करें।
  • आवेदन पत्र में पूछी गई सभी जानकारियों को बहुत अच्छे से भरें।
  • फॉर्म भरने के बाद फॉर्म के साथ सभी जरूरी दस्तावेज लगाएं। फिर उस फॉर्म को फिर से उस बैंक में जमा कर दें।
  • फॉर्म सबमिट होने के बाद आपको बैंक की ओर से एक रसीद दी जाएगी, इसे बहुत संभाल कर रखें।
  • इसके अलावा आप अपने अलावा किसी भी कॉमन सर्विस सेंटर से भी आवेदन कर सकते हैं।
  • इसके अलावा आप किसी भी बीमा एजेंट से इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

PM Fasal Bima Yojana मोबाइल ऐप

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना से संबंधित फसल बीमा नामक मोबाइल एप्लीकेशन प्ले स्टोर पर उपलब्ध है जिसका उपयोग करके आप इस योजना के लिए पंजीकरण कर सकते हैं, स्थिति की जांच कर सकते हैं, बीमा प्रीमियम की गणना कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना कब स्टार्ट हुई थी?

प्रधान मंत्री फोसल बीमा योजना 13 मई 2016 को वर्तमान प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गई थी। और वर्तमान में कृषि और वाणिज्य कल्याण मंत्रालय इस योजना की देखरेख करता है।

फसल बीमा आवेदन कैसे करें?

फोसल बीमा योजना के लिए आवेदन करने के लिए दो तरीके उपलब्ध हैं पहला ऑनलाइन आवेदन जो आप घर बैठे कर सकते हैं। और दूसरा है ऑफलाइन एप्लीकेशन। ऑफलाइन अप्लाई करने के लिए आपको बैंक से फॉर्म लेकर जाना होगा और फॉर्म भरकर दोबारा बैंक में जमा करना होगा। सीएससी सेंटर से भी आवेदन किया जा सकता है। साथ ही कोई बीमा एजेंट इस योजना के लिए आवेदन करने में आपकी मदद करता है।

फसल बीमा कितना होता है?

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में अलग-अलग मौसम के अलग-अलग फलों के लिए बीमा राशि अलग-अलग होती है। इसे चेक करने के लिए आप PMFBY के प्रीमियम इंश्योरेंस कैलकुलेटर का इस्तेमाल कर सकते हैं।

WhatsApp Channel Join Now
Telegram Channel Join Now
Instagram Group Join Now
Kawasaki Vulcan S दे रहा है बड़ा ऑफर सोशल मीडिया के दुनिया में मचा हड़कंप : जानिए क्यों बंद हुआ था फेसबुक Samsung Galaxy S24 Price Samsung Galaxy F15 5G Apple MacBook Air with M3 chipset launched in India